सीएम हॉउस का सिक्योरिटी गार्ड कोरोना पॉजिटिव , मेकाहारा के 2 डॉक्टर सहित 70 नए केस , मेडिकल स्टाफ की बड़ी लापरवाही

सीएम हाऊस के सुरक्षाकर्मी के कोरोना पॉजिटिव मिलने की खबर है, साथ ही रायपुर के मेकाहारा कोविड-19 अस्पताल में ड्यूटी कर रहे दो डॉक्टर और जिला चिकित्सा कार्यालय (सीएमएचओ) के डॉटा एंट्री ऑपरेटर भी कोरोना संक्रमित पाए गये है .

सीएम हॉउस  का सिक्योरिटी गार्ड कोरोना पॉजिटिव , मेकाहारा के 2 डॉक्टर सहित 70 नए केस , मेडिकल स्टाफ की बड़ी लापरवाही

रायपुर. छत्तीसगढ़ में कोरोनावायरस  का खतरा अब सीएम हाउस तक पहुँच चुका है आपको बता दें की सीएम हाऊस का सुरक्षाकर्मी प्लाटून कमांडर रामलाल सोनी पॉजिटिव मिला है। उसकी ड्यूटी पश्चिमी द्वार पर थी, जिसके बाद मुख्यमंत्री निवास को पूरी तरह से  सैनिटाइज किया गया है।इसके साथ ही शुक्रवार रात तक प्रदेश में 70 नए संक्रमित मिले हैं। इसमें रायपुर के मेकाहारा कोविड-19 अस्पताल में ड्यूटी कर रहे दो डॉक्टर और जिला चिकित्सा कार्यालय (सीएमएचओ) के डॉटा एंट्री ऑपरेटर भी शामिल है। 

इसके अतिरिक्त जांजगीर-चांपा से 18, सरगुजा से 17, रायपुर से 9, बलौदाबाजार से 8, जशपुर से 6, मुंगेली से 4, राजनांदगांव से 3, बिलासपुर से 2, दुर्ग, कोरिया व बलरामपुर से 1-1 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। वहीं 130 मरीजों के स्वस्थ होने के बाद उन्हें डिस्चार्ज किया गया है। अब कुल मरीजों की संख्या 2018 हो गई है। वहीं एक्टिव मरीजों की संख्या 703 है। जबकि 11 लोगों की मौत हो चुकी है।

वहीं दूसरी तरफ स्वस्थ्या विभाग ने बड़ा फैसला लिया है जिसमें रायपुर के माना स्थित कोविड-19 अस्पताल में अब मरीजों को भर्ती नहीं करने का फैसला लिया गया है। वहां तैनात डॉक्टरों सहित स्वास्थ्यकर्मियों को वापस मेकाहारा बुलाया जाएगा। कोरोना संकट को देखते हुए राज्य सरकार ने माना में 100 बिस्तरों का कोविड-19 अस्पताल बनवाया था। फिलहाल वहां 30 मरीजों का उपचार जारी है।

छत्तीसगढ़ में डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ में कोराेना संक्रमण के डर और लापरवाही के मामले सामने आने लगे हैं। बिलासपुर में रतनपुर के क्वारैंटाइन सेंटर में बुधवार को श्रमिक की मौत हो गई थी। उस दिन प्रभारी डॉ. अनिल श्रीवास्तव मौके पर पंहुचे थे, लेकिन संक्रमण के डर से उन्होंने मरीज को छुआ तक नहीं, बल्कि वार्ड ब्वॉय दीपेश साहू को पीपीई किट पहनाकर जांच करवाई। अब इस मामले में सीएमएचओ डॉ. प्रमोद महाजन ने डॉ. अनिल श्रीवास्तव को नोटिस जारी कर तीन दिन में जवाब मांगा है

वहीं दूसरी ओर जगदलपुर मेडिकल कॉलेज में कोविड-19 अस्पताल के संदिग्ध रोगियों के वार्ड में तीन स्टाफ बिना पीपीई किट और एसओपी के अंदर घुस गए। इसके बाद दोनों नर्स और वार्ड ब्वाॅय इसी बिल्डिंग में कई स्थानों पर घूमे भी। तीनों को कारण बताओ नोटिस जारी कर ऐसी हरकत के लिए दो दिनों में जवाब तलब किया गया है। मेकॉज के अफसरों के अनुसार कोविड हॉस्पिटल में पहले की कुछ दवाएं बची हुई थीं वो एक्सपायरी हो रही थीं। ऐसे में कुछ स्टाफ उन दवाओं को लेने के लिए यहां आ गए थे।