10/12/2018 3:27:42 AM
BREAKING NEWS
Home » Home » भारत की सबसे युवा ट्रांसजेंडर की कहानी
भारत की सबसे युवा ट्रांसजेंडर की कहानी

भारत की सबसे युवा ट्रांसजेंडर की कहानी

ट्रांसजेंडर इस नाम को सुनते ही लोगों को थोड़ा अजीब सा महसूस होता है वह सोचते हैं कि कोई कैसे अपना सेक्स चेंज करवाकर दुनियां का सामना कर सकता है मगर दिल्ली में रहने वाली नैना सिंह ने अपना जेंडर चेंज करवा भारत की सबसे युवा ट्रांसजेंडर बन गयी है और साथ ही वह बड़ी बहादुरी से दुनिया का सामना कर रही है। पहले नैना के घर वाले भी उनके इस चेंज को अपना नहीं पा रहे थे मगर बाद में भी उन्हें अपनाना पड़ा।

आइये जानते है भारत की सबसे युवा ट्रांसजेंडर नैना की प्रेरणादायक कहानी और जिंदगी के कुछ पहलुओं के बारे में……

17 साल की नैना का जन्म लड़के के रूप में हुआ था। बचपन में उसका नाम कृष्णा रखा गया था। लेकिन जैसे-जैसे कृष्णा बड़ा हुआ उसे अपने अंदर एक अलग ही पहचान का एहसास हुआ।


उनकी जिंदगी में उनकी मां की भूमिका बेहद अहम रही है। जब समाज से उन्हे काफी नेगेटिव कमेंट मिले, उसके बाद वो गहरे मानसिक तनाव से गुजरी। तब कृष्णा की मां ने इसमें उसका पूरा साथ दिया

नैना बचपन से ही बहुत स्पष्ट थी। उसने कभी भी किसी भी दूसरे लिंग पहचान के बारे में कभी नहीं सोचा था।

उसे शुरू से ही लड़कियों के कपड़े पहना पसंद था और ज्यादातर वह लड़कियों के साथ ही घूमता फिरता था।

वो अपने सभी फैमिली फंक्शन में भी लड़की की तरह तैयार होकर जाता था। और लड़कियों के साथ गपशप और घूमना पसंद था।

एक दिन अपनी स्कूल की असेंबली में सबके सामने कृष्णा ने अपनी असली पहचान दुनिया के सामने लाकर रख दी। कृष्णा की मां ने इसमें उसका पूरा साथ दिया स्कूल की असेंबली में नैना द्वारा लिया गया वह कदम काफी बडा था उसे लगा कि इन सब में उसका कोई साथ नही देगा, लेकिन उसकी माँ ने उसे हिम्मत दी।

नैना एक मजबूत लड़की है और खुद की पहचान के साथ जीवन जीने में विश्वास रखती है। अब वह एक सामान्य जवान लड़की की तरह रह रही हैं और अपने दोस्तों के साथ जीवन का आनंद ले रहीं है।

वह न केवल भारतीय किन्नरों के लिए बल्कि दुनिया के सभी किन्नरों के लिएएक रोल मॉडल है, क्योंकि उसने बहुत कम उम्र में उसकी असली पहचान के बारे में बात करने का साहस किया था ।

About Amit Mishra

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*