बदलते दौर में प्रेम विवाह करने का जिद,फिर कोर्ट में लग रहे तलाक के अर्जी

समाज के लिए खतरा बनता जा रहा प्रेम विवाह

बदलते दौर में प्रेम विवाह करने का जिद,फिर कोर्ट में  लग रहे तलाक के अर्जी

इसे माेहब्बत काे परवान चढ़ना मानें या फिर कुछ और, आजकल के युवक-युवतियों की सोच बदल रही है। वे बिना सोचे-समझें प्रेम विवाह के बंधन में बंध रहे हैं।  हर दूसरे दिन प्रेम विवाह करने का मामला सामने आ रहा है। परिजनों से नाता तोड़कर घर से भागकर प्रेमी जोड़े कोर्ट में शादियां रचा रहे हैं। फिर पुलिस सुरक्षा मांग रहे हैं।

देखने में आ रहा है कि प्रेम विवाह के कुछ दिन बाद तलाक के लिए अर्जी लगाई जा रही है। और जोड़ो के प्यार का भूत उतरते ही बोल रहे है की किसी तरह अब पिंड छुड़ा दो|

कुछ युवक-युवतियां एक-दूसरे को परखे व बिना सोचे -समझे प्रेम विवाह कर लेते हैं और कुछ समय बाद वे एक-दूसरे से दूर रहने का मन बना लेते हैं। इसके पीछे बेरोजगारी व आर्थिक तंगी बड़ा कारण है।

युवाओं की मानसिकता में बदलाव आ रहा है। यौवन अवस्था में आकर्षण के बाद युवक-युवतियां प्रेम विवाह जैसा कदम उठा लेते हैं, लेकिन एक-दूसरे को बिना जाने इस तरह शादी करना समाज के लिए खतरनाक साबित हो रहा है। ज्यादातर शादियां बेमेल होने के कारण टूट जाती हैं।