मध्य प्रदेश में डाक्टर्स के बाद अब नर्शो का धरना

धरने को अनिश्चित काल तक होने के दिए संकेत

मध्य  प्रदेश  में डाक्टर्स के बाद अब नर्शो का धरना

हाल ही में डाक्टरों के धरने के बाद अब नर्सो की भी मांगो को लेकर जिले में गर्मागर्मी देखने को मिला है, जी हा मध्यप्रदेश में कार्यरत स्टाफ नर्स की लंबित मांगों के निराकरण हेतु नर्सेज एसोसिएशन ने मेडिकल कॉलेज में धरना दिया और अस्पताल में काम बंद किया |

नर्सेस एसोसिएशन मध्य प्रदेश कई बार शासन व प्रशासन को ज्ञापन के माध्यम से नर्सेस की लंबित मांगों को लेकर समय - समय पर अवगत कराता आ रहा है, एसोसिएशन का कहना है की आज तक नर्स की मांगों पर विचार नहीं किया गया  वर्तमान में पूरा देश इस बात को मान चुका है कि इस कोविड -19 की महामारी में जो सबसे ज्यादा फ्रंटलाईन वर्कर के रूप में उभर कर सामने आये हैं वह हमारी नर्स बहने हैं जो अपनी जान की परवाह न करते हुए उन्होंने देश पर आए इस संकट की घड़ी में अपना पूरा योगदान दिया कई संगठनों ने हमारी नर्सेस बहनों के पैर छूकर उन्हें सम्मानित किया,इन सभी संगठनों का हम तहे दिल से शुक्रिया अदा करते है|

एसोसिएशन का कहना है की मुख्यमंत्री , स्वास्थ्य मंत्री एवं सभी प्रशासनिक अधिकारियों से यह अपेक्षा रखते हैं कि नर्सेस की मांगों को एक मंच पर लाकर उनका निराकरण करने की कृपा करें और उच्च स्तरीय वेतनमान अन्य राज्यों की तरह मध्य प्रदेश में कार्यरत समस्त नर्सेस को दिया जाए । पुरानी पेंशन योजना लागू की जाए । कोरोना काल में शहीद हुए नर्सिंग स्टाफ के परिजन को अनुकंपा नियुक्ति देने के साथ 15 अगस्त को राष्ट्रीय कोरोना योद्धा अवार्ड से सम्मानित किया जाए ।