सरकारी वकीलों की रिटायरमेंट की उम्र 62 से बढ़ाकर 65 वर्ष की जाएगी

आशा की ज्योति का केंद्र एडवोकेट होता है

सरकारी वकीलों की रिटायरमेंट की उम्र 62 से बढ़ाकर 65 वर्ष की जाएगी

मध्य प्रदेश के सरकारी वकीलों के लिए बेहद अहम खबर जिसमें सरकारी वकीलों की सेवानिवृत्ति की आयु 62 से बढ़ाकर 65 वर्ष कर दी जाएगी यह घोषणा गुरुवार को विधि एवं गृह मंत्री डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा ने भोपाल में टेक्नोक्रेट्स इंस्टीट्यूट आफ लॉ के शुभारंभ पर आयोजित समारोह में की उन्होंने कहा की कोर्ट में जाने के बाद सभी के लिए आशा की ज्योति का केंद्र एडवोकेट ही होता है इस मौके पर राज्यसभा सांसद और सुप्रीम कोर्ट के सीनियर वकील विवेक तंखा ने कहा की लॉ स्टूडेंट के पास कैरियर बनाने के ज्यादा अवसर मौजूद होते हैं गृह मंत्री ने कहा कि यहां से निकलने वाले विद्यार्थी आम आदमी को न्याय दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे संस्था के साथ प्रदेश का भी नाम रोशन करेंगे |

उन्होंने आश्वस्त किया की शासन स्तर से संस्थान की हर संभव सहायता की जाएगी राज्यसभा सांसद विवेक तंखा ने कहा कि नए कालेज नए आइडियाज लेकर आते हैं संस्था की अच्छी फैकल्टी बेहतर परिणाम दिलाती है उन्होंने विद्यार्थियों से अपनी काबिलियत पर अधिक विश्वास रखने को कहा, आयोजन में मध्यप्रदेश में सरकारी वकीलों के लिए बेहद जरूरी बात बताते हुए नरोत्तम मिश्रा ने कहा की सरकारी वकीलों की रिटायरमेंट की उम्र 62 से बढ़ाकर 65 वर्ष की जाएगी