सिद्धू के कांग्रेस अध्यक्ष बनने पर कैप्टन ने बधाई तक नहीं दी

कैप्टन के अगली कदम पर सबकी नजर

सिद्धू के कांग्रेस अध्यक्ष बनने पर कैप्टन ने बधाई तक नहीं दी

नवजोत सिद्धू पंजाब में कांग्रेस अध्यक्ष बन गए हैं, लेकिन CM कैप्टन अमरिंदर सिंह से उनकी मुलाकात पर अभी तक असमंजस बरकरार है। कैप्टन ने सिद्धू को पंजाब कांग्रेस का अध्यक्ष बनाने के लिए यह शर्त रखी थी कि पहले वे उन पर लगाए आरोपों के लिए सार्वजनिक माफी मांगे। यह बात उन्होंने पंजाब कांग्रेस के इंचार्ज हरीश रावत से कही थी। इसके बावजूद सिद्धू ने कोई माफी नहीं मांगी। इससे पहले ही रविवार रात सिद्धू को पंजाब कांग्रेस का अध्यक्ष बनाने का ऐलान कर दिया गया।

कैप्टन के कदम पर सबकी नजर
कैप्टन इतने नाराज हैं कि उन्होंने सिद्धू को अध्यक्ष बनाए जाने पर बधाई तक नहीं दी। खबर है कि कैप्टन ने सिसवां फार्म हाउस पर अपने कुछ करीबियों के साथ बैठक की है, लेकिन इस पर कैप्टन ने अभी कोई बयान नहीं दिया है। कैप्टन अब आगे क्या कदम उठाते हैं, इस पर सबकी नजर लगी हुई है।

सिद्धू कुछ नहीं बोल रहे, विधायक वड़िंग बोले- कैप्टन से समय मांगा है
सिद्धू का कांग्रेसी नेताओं से मिलने का सिलसिला जारी है। सोमवार को वे चंडीगढ़ पहुंचकर कार्यकारी प्रधान बनाए गए कुलजीत नागरा से मिले। सिद्धू के साथ चल रहे विधायक अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग का दावा है कि सिद्धू ने कैप्टन से मिलने का समय मांगा है। जैसे ही समय मिलेगा तो उनसे मुलाकात हो जाएगी। फिलहाल सिद्धू ने पूरे मुद्दे पर चुप्पी साध रखी है। सिद्धू मीडिया से भी बात नहीं कर रहे हैं।

कैप्टन ने सांसदों और विधायकों को लंच पर बुलाया
कैप्टन ने बुधवार को सभी विधायकों और सांसदों को लंच पर बुलाया है। यह लंच पंचकूला के एक होटल में होगा। जिसमें कांग्रेस के बड़े नेता भी शामिल हो सकते हैं। अभी तक की सूचना के मुताबिक इसमें सिद्धू को न्योता नहीं भेजा गया है। यह कैप्टन का शक्ति प्रदर्शन है या फिर वे कोई नया फैसला लेने जा रहे हैं इसके बारे में कयास लगाए जा रहे हैं।

सिद्धू फिर जाखड़ से मिले, मंत्री रजिया सुल्ताना के घर भी पहुंचे
पंजाब कांग्रेस के प्रधान की औपचारिक घोषणा के बाद सोमवार को नवजोत सिंह सिद्धू पहले निवर्तमान प्रधान सुनील जाखड़ से उनके पंचकूला स्थित आवास पर मिले। इसके बाद उन्हें साथ लेकर कैप्टन सरकार में मंत्री रजिया सुल्ताना के घर पहुंचे हैं। जहां पर गर्मजोशी से सिद्धू का स्वागत किया गया।